TVS Supply Chain के IPO पर जबरदस्त प्रतिक्रिया, दूसरे दिन तक 89% बुकिंग

टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के IPO को निवेशकों से शानदार रिस्पॉन्स मिला है। IPO की बिडिंग के दूसरे दिन, 11 अगस्त को, निवेशकों ने 2.10 करोड़ शेयर खरीदे, जबकि ऑफर साइज 2.51 करोड़ शेयरों का है।

टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के IPO को निवेशकों से शानदार रिस्पॉन्स मिला है। IPO की बिडिंग के दूसरे दिन, 11 अगस्त को, निवेशकों ने 2.10 करोड़ शेयर खरीदे, जबकि ऑफर साइज 2.51 करोड़ शेयरों का है। इस तरह, कंपनी के IPO को अब तक 89 प्रतिशत सब्सक्रिप्शन मिल चुका है, जिससे स्पष्ट होता है कि निवेशकों के बीच इस IPO के प्रति उत्साह और विश्वास की अधिक मात्रा है। टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस के IPO के माध्यम से कंपनी ने नए योजनाओं की प्रारंभिक धाराओं को फंड करने का एक बड़ा माध्यम प्रदान किया है और इससे उसके वित्तीय स्थिरता और विकास की स्थिति को मजबूती मिलेगी।

Subscription Status As on 11 Aug ’23, 4:05 PM
Qualified Institutional Buyers0.08x
Non-Institutional Investor0.93x
Retail Individual Investor3.45x
Employees0.00x
Total0.93x

See Current Status

"Exciting news! Stockesta is now on WhatsApp and Telegram Channels 🚀 Subscribe today | Stay updated with the latest IPO insights!" Follow on Whatsapp! and Join Telegram!

इस IPO के संदर्भ में, रिटेल निवेशकों की उत्सुकता दिखाई दे रही है और उन्होंने अपने लिए आवंटित हिस्से के मुकाबले 3 गुना अधिक खरीदारी की है। रिटेल निवेशकों के लिए IPO की ऑफर साइज का 10 प्रतिशत हिस्सा आवंटित किया गया है। हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स (HNI) ने अपने निवेशकों के लिए आवंटित हिस्से के 86 प्रतिशत को खरीद लिया है। HNI निवेशकों के लिए IPO के 15 प्रतिशत हिस्से को आवंटित किया गया है। इसके साथ ही, कंपनी ने IPO के 75 प्रतिशत हिस्से को क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स खरीददारों (QIB) के लिए आरक्षित किया है।

पहले दिन 880 करोड़ रुपये के इस पब्लिक इश्यू में 55 पर्सेंट सब्सक्रिप्शन की गई है। इस इश्यू के लिए प्राइस बैंड को 187 से 197 रुपये प्रति शेयर के रूप में तय किया गया है। यह इश्यू 14 अगस्त को समाप्त होगा। चेन्नई की ये लॉजिस्टिक्स कंपनी इस नए इश्यू के माध्यम से 600 करोड़ रुपये की धनराशि जुटाएगी, जबकि शेष 280 करोड़ रुपये ऑफर-फॉर-सेल (OFS) के जरिए आएंगे। OFS में कुल 22 शेयरहोल्डर्स अपने हिस्सेदारी को बेचने की योजना बना रहे हैं।

टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस कंपनी के बारे में जानकारी

टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस भारत में स्थित एक अग्रणी बहुराष्ट्रीय कंपनी है और प्रतिष्ठित टीवीएस मोबिलिटी ग्रुप के हिस्से के रूप में काम करती है। कंपनी भारत और चुनिंदा वैश्विक बाजारों में विविध उद्योगों को व्यापक आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन और लॉजिस्टिक्स समाधान प्रदान करने में माहिर है। उनकी पेशकशें संपूर्ण मूल्य श्रृंखला को कवर करती हैं, सोर्सिंग से शुरू होकर उपभोग तक। इन समाधानों को मोटे तौर पर दो खंडों में वर्गीकृत किया गया है: एकीकृत आपूर्ति श्रृंखला समाधान (आईएससीएस) और नेटवर्क समाधान (एनएस)।

आईएससीएस सेगमेंट के भीतर, कंपनी सोर्सिंग, खरीद, एकीकृत परिवहन, लॉजिस्टिक्स संचालन केंद्र, इन-प्लांट लॉजिस्टिक्स संचालन, तैयार माल, आफ्टरमार्केट पूर्ति और आपूर्ति श्रृंखला परामर्श सहित विभिन्न पहलुओं को कुशलतापूर्वक संभालती है। दूसरी ओर, एनएस खंड वैश्विक अग्रेषण समाधान (जीएफएस) पर ध्यान केंद्रित करता है, जिसमें वेयरहाउसिंग, बंदरगाह भंडारण और मूल्य वर्धित सेवाओं के साथ-साथ समुद्र, वायु और भूमि के माध्यम से एंड-टू-एंड माल अग्रेषण और वितरण शामिल है।

इसके अलावा, कंपनी टाइम-क्रिटिकल फाइनल माइल सॉल्यूशंस (टीसीएफएमएस) प्रदान करती है, जिसमें क्लोज्ड-लूप लॉजिस्टिक्स और सपोर्ट, स्पेयर लॉजिस्टिक्स, ब्रेक-फिक्स, नवीनीकरण, इंजीनियरिंग सपोर्ट और कूरियर सेवाएं शामिल हैं। वर्ष 2023 में, टीवीएस सप्लाई चेन सॉल्यूशंस ने यूरोप, यूनाइटेड किंगडम, एशिया-प्रशांत और उत्तरी अमेरिका में अपने परिचालन का विस्तार करते हुए, दुनिया भर के 26 देशों में 8,788 ग्राहकों की उल्लेखनीय संख्या को गर्व से सेवा प्रदान की।

"Exciting news! Stockesta is now on WhatsApp Channels 🚀 Subscribe today by clicking the link and stay updated with the latest IPO insights!" Click here!

👉 IPO GMP || IPO News || IPO Details || IPO Review || Join Whatsapp Channel and read news related to IPO on Stockesta.com.
Disclaimer: The information provided on this website is for informational purposes only and should not be construed as financial or investment advice. Users are advised to do their own research and consult a qualified financial advisor before making any investment decisions.
What is an IPO?- Why Companies Go Public